दबंग न्यूज लाईव की खबर पर फिर लगी मुहर ।

2,030 total views, 2 views today

कोटा जनपद अध्यक्ष पर मनोहर राज तो उपाध्यक्ष पर सुमन जायसवाल हुए निर्वाचित ।
कोटा से गायब होती कांग्रेस ।

 

दबंग न्यूज लाईव
गुरूवार 13.02.2020

कोटाजैसा हाल दिल्ली में कांग्रेस का है कमोबेश वही हाल यदि कोटा में कांग्रेस का बोला जाए तो कोई गलत नहीं होगा । पहले विधायक खोया फिर सांसद फिर नगर पंचायत अध्यक्ष और अब जनपद अध्यक्ष की कुर्सी कांग्रेस के हाथ से निकल गई । इन सभी जगहों पर भाजपा ने अपना कब्जा किया तो विधायक के पद पर जनता कांग्रेस ने ।


कांग्रेस के कार्यकर्ता और पदाधिकारियों के लिए ये चिंता का विषय हो सकता है कि आखिर यहां से कांग्रेस की जमीन क्यों खिसक रही है । लेकिन फिलहाल इन हार से कांग्रेस कुछ सोचने विचारने के मुड में नहीं है क्योंकि प्रदेश की सत्ता पर तो कांग्रेस ही है । कोटा के कांग्रेसी इसी बात से खुश है ।

दबंग न्यूज लाईव ने आज ही ये खबर प्रकाशित की थी कि कोटा जनपद पंचायत के नए अध्यक्ष मनोहर राज तथा उपाध्यक्ष सुमन जायसवाल हो सकते हैं । दबंग न्यूज लाईव को जो अंदरूनी सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई थी वो पुख्ता थी । भाजपा के सभी निर्वाचित जनपद सदस्य आज ग्यारह बजे के लगभग कोटा जनपद पहुंचे तथा उसके बाद चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुई । बंद लिफाफे में पार्टी ने पहले ही मनोहर राज और सुमन जायसवाल के नाम पर अपनी मुहर लगा दी थी ।


कोटा जनपद पंचायत का पिछला पांच साल काफी विवादों में बिता । कृषक कुटीर की पार्टी से लेकर पंचायतों से शौचालय में वसुली को लेकर पिछले जनपद पंचायत के सदस्यों पर उंगली उठती रही । जनपद सदस्य अपनी सीमाओं से बाहर जाकर दुसरे जनपद पंचायत सदस्यों तक के काम में हस्तक्षेप करने लगे थे और जनपद वसुली का सबसे बड़ा अड्डा बन गया था ।
और यही कारण था कि पिछले जनपद सदस्यों के समूह से सभी जनपद सदस्य अपना चुनाव हार गए फिर वो जनपद अध्यक्ष हो या सभापति सभी को जनता ने किनारे करते हुए नए सदस्य जनपद में भेजे । पिछले पच्चीस जनपद सदस्यों में से इक्कीस अपना चुनाव हार गए तो धर्मेन्द्र देवांगन ने अपनी पत्नि को चुनाव लड़ाया और जीत हासिल की जबकि विनोद बंजारे ने पंचायत का चुनाव लड़ा और रिंकू दीक्षित ने चुनाव ही नही लड़ा । ये आंकड़े ये दिखाने के लिए काफी है कि पिछले पांच साल रहे जनपद अध्यक्ष , सभापति और सदस्यों ने कैसा काम किया है ।
देखना होगा कि आने वाले पांच साल जनपद पंचायत कोटा और उसके पंचायतों के लिए कैसे होते हैं ।

About Sanjeev shukla

Sanjeev shukla

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

एसडीएम के खिलाफ पटवारियों ने खोला मोर्चा,

520 total views, 520 views today कामधाम बंद कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए I एसडीएम को हटाने ...

error: Content is protected !!