close button
ब्रेकिंग न्यूज़
Home / करगी रोड / सबसे बड़ा सवाल -कोटा जनपद में ना हो ठीक से काम ,क्या इसलिए हो रहा है हंगामा ?
.

सबसे बड़ा सवाल -कोटा जनपद में ना हो ठीक से काम ,क्या इसलिए हो रहा है हंगामा ?

Advertisement

क्या जनपद और पंचायतों के विकास कार्यो में लगाया जा रहा है अडंगा ?

दबंग न्यूज लाईव

बुधवार 20.01.2021

करगीरोड कोटा – कोटा जनपद पंचायत में पिछले आठ दस माह से जो विवाद और तनाव की स्थिति बनने लगी थी वो अब अपने चरम पर है । बिते दिनों जनपद सदस्यों ने कई मुद्दो को लेकर धरना और आंदोलन कर दिया था । आंदोलन में मुख्यतः पिपरतराई जनपद क्षेत्र और तेंदुवा जनपद क्षेत्र की जनपद सदस्यों ने अपने अपने पंचायतों के मामलों को लेकर भूख हड़ताल किया बाद में कुछ  और जनपद सदस्यों ने भी इसमें हिस्सा लिया ।

यहां तक तो सब ठीक है लोकतंत्र में विरोध ,प्रदर्शन और अपनी बात कहने का हक सभी को है । लेकिन दो दिन पहले हुई सामान्य प्रशासन की बैठक जहां कई प्रस्तावों पर चर्चा और अनुमोदन होना था वहां भी विवाद और विवाद के बाद जनपद सदस्यों के एक गुट का बैठक छोड़ निकल जाने से ये बात चर्चा में आ गई है कि क्या जनपद पंचायत में कोई ऐसा तत्व काम कर रहा है जो नहीं चाहता कि जनपद में सबकुछ शांतिपूर्ण और सामंजस्य से चले । अंदरूनी सूत्रों की मानें तो कुछ बाहरी तत्व हैं जो कुछ जनपद सदस्यों को बरगालकर विवाद पैदा करवा रहे हैं । कोटा जनपद पंचायत में इसके पहले के भी पांच साल ऐसे ही विवादों में बित गए थे और पंचायतों के कई विकास कार्य अटक गए थे ।

अंदरूनी सूत्रों से जो जानकारी प्राप्त हो रही है उसके अनुसार इस पूरे मामले एक शिक्षक जनपद में कुछ बाबूओं को प्रमोशन का लालच देकर यहां विवाद को हवा दे रहा है ।

कोटा जनपद पंचायत में इन दिनों एलईडी लाईट का जिन्न बाटल से बाहर है और गाहे बगाहे जनपद सदस्य इसी बात को लेकर जनपद में हंगामा करते रहते हैं । लेकिन जो दस्तावेज प्राप्त हुए है उसके अनुसार शासन से ही 2015 में इसके लिए एक पत्र जारी हुआ है जिसके अनुसार सभी पंचायतों में विद्युतीकरण का कार्य किया जाना है । 

 

इस काम के लिए लोक निर्माण विभाग ने अपना इस्टीमेट भी दिया है जिसमें एलईडी लाईटों के रेट तय हैं कि कितने वाट की एलईडी लाईट इंस्टालेशन और दो साल के मेंटनेंस के साथ कितने में पड़ेगी ।

दबंग न्यूज लाईव ने इस पूरे मामले में जनपद सीईओ संध्यारानी कुर्रे से बात की तो उनका कहना था – पंचायत ने शासन के नियमानुसार स्वयं ही पंचायत की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए प्रस्ताव करा कर एसडीओ ईलेक्ट्रिकल के सत्यापन और शासन के एसओआर पे ही लाईट लगवाया है । ऐसे में इस मामले में ज्यादा विवाद नहीं करना चाहिए कोई भी काम शासन के नियमों के अनुसार ही होता है ।

जनपद अध्यक्ष मनोहर राज से भी बात की तो उनका कहना था – जनपद में वैसे तो कोई गुटबाजी नहीं है हम तो चाहते हेैं कि सभी मिल जुल कर काम करें । रही एलईडी लाईट की बात तो उसकी जांच चल ही रही है और ये पंचायत स्तर पर उनका काम है वो करवा सकते हैं ।

Advertisement
Advertisement

About sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
x

Check Also

सकोला तहसील के निर्माण को लेकर जनप्रतिनिधियों ने सचिव छ.ग.शासन राजस्व एवं आपदा प्रबंधन को भेजा माँग पत्र ।

Advertisement जनप्रतिनिधियों ने दावा आपत्ति जीपीएम कलेक्टर को पेश की दबंग न्यूज ...

error: Content is protected !!