close button
ब्रेकिंग न्यूज़
Home / कोरबा / GPM नए बने जिले में लगता है पूरी खबर पंचायत सरपंच और सचिव के बीच ही घुम रही है ।
.

GPM नए बने जिले में लगता है पूरी खबर पंचायत सरपंच और सचिव के बीच ही घुम रही है ।

Advertisement

सचिव ने पुलिस पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए एसपी से की शिकायत ।
हर जनपद में सरपंच सचिव घमासान ।

दबंग न्यूज लाईव
बुधवार 20.10.2021

K.K.Pandey

जीपीएम – नए बने जिले जीपीएम GPM में पिछले तीन चार दिनों से खबरों की बात करें तो पंचायत ,सरपंच ,सचिव और जनपद ही मुख्य लाईन में है । हर बड़ी खबर यहीं से निकल कर सामने आ रही है । पहले पतगंवा के सचिव को सरपंच पति ने पंचायत में बंद करके मारा पीटा , फिर मालाडांड के सचिव ने दुखद ढंग से आत्महत्या कर ली उसके बाद तेंदुमुड़ा की सरपंच ने अपनी पूर्व सचिव पर डीएससी नहीं देने और पंचायत में ना होने के बाद भी राशि आहरण का आरोप लगाया । ऐसे में GPM पंचायत से जुड़ी हर खबर अब महत्वपूर्ण हो गई है और हमारी कोशिश है कि नए जिले में जनपदों और पंचायतों जो खेल खेला जा रहा है उसमें कुछ तो सुधार हो और आगे मालाडांड जैसा दुर्भाग्यजनक हादसा ना हो ।


14 अक्टूबर को पतगंवा में सरपंच पति ने अपने यहां के सचिव शरतचंद्र गुप्ता को पंचायत भवन में बंधक बनाकर पिटाई कर दी थी और कैश बुक वगैरह फाड़ दिया था । इस घटना से क्षुब्ध और दुखी होकर सचिव शरतचंद्र गुप्ता थाने पहुंचकर शिकायत की उनकी शिकायत पर पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया ।

लेकिन पुलिस द्वारा दर्ज शिकायत से सचिव शरत गुप्ता संतुष्ट नहीं हुए उनका कहना है कि मेरे साथ बंधक बनाकर मारपीट हुई है वो भी शासकीय कार्यालय में और शासकीय रिकार्ड को भी क्षति पहुंचाई गई ऐसे में सरपंच पति पर शासकीय काम में बाधा डालने की धारा भी लगनी चाहिए थी लेकिन सिर्फ सामान्य मारपीट की धारा लगाई गई ।

शरतचंद्र गुप्ता सचिव पतगंवा ।

सचिव ने अपने आवेदन में ये भी कहा है कि घटना के बाद मैं काफी डरा हुआ तथा बदहवास था काफी चोटें आई थी यदि उस समय पंचायत में लोग नहीं रहते तो पता नहीं क्या होता लोगों ने ही मुझे बचाया । सरपंच पति के द्वारा फर्जी बिलों पर चेक काटने के लिए कहा जाता है साथ ही कोई आरटीआई लगाता है तो उसकी भी जानकारी नहीं देने कहता है । मैने इन सब बातों की जानकारी कई बार अधिकारियों को लिखित में दिया है लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई है ।

दबंग न्यूज लाईव से बात करते हुए शरतचंद्र का कहना था – घटना से मैं काफी दुखी और क्षुब्ध हूं । कार्यवाही ना करने का दबाव कई जगह से आ रहा है । मैने घटना के बाद शिकायत की लेकिन सामान्य धाराओं पर अपराध दर्ज हुआ है जबकि शासकीय काम में बाधा और बंधक बनाने की भी धारा लगनी चाहिए थी ।

Advertisement
Advertisement

About sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
x

Check Also

ब्रेकिंग – तेंदुवे का दुसरा शिकार भी फेल कहीं तेंदुवा हिंसक ना हो जाए ।

Advertisement कल रात फिर गांव में घुसकर बछड़े पर किया हमला । ...

error: Content is protected !!