close button
करगी रोडकोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

Kanan Tiger Scandal – लापरवाही अधिकारियों की जिम्मेदार बने बंदर … वाह भाई कमाल है ।

लापरवाह कानन में दो बाघों के संघर्ष में एक की हुई थी मौत ।

दबंग न्यूज लाईव
सोमवार 11.04.2022

संजीव शुक्ला

बिलासपुर – अपनी जवाबदारी और जिम्मेदारी से कैसे बचें और इसका ठीकरा कैसे किस पर फोड़े ये जंगल विभाग के अधिकारियों को बखूबी आता है और खासकर जिले के कानन पेंडारी जूं के अधिकारी तो इसमें माहिर है ।

कानन में संघर्ष के दौरान मृत हुई चेरी ।

कानन में पिछले कुछ माह से वन्य प्राणियों की जिस प्रकार मौत हो रही है उसने कई सवाल कानन प्रबंधन पर खड़े कर दिए है लेकिन अधिकारियों के पास हर मौत के बाद ऐसे ऐसे जवाब होते हैं कि आम इंसान भी एक बार में सब समझ जाए ।

भैरव जिसने टाईग्रेस को मारा ।

लेकिन पिछले दिनों जो हुआ वो अपने आप में चौंकाने वाला था । शायद ही देश के किसी जूं में इस प्रकार की घटना घटी हो कि एक शेर ने केज तोड़ कर दुसरे शेर को मार डाला हो । कानन में पिछले दिनों यहां का एक शेर भैरव रात को चेरी के सेल्टर में घुस जाता है और फिर दोनों के बीच खूनी संघर्ष शुरू हो जाता है और इस संघर्ष में भैरव चेरी की जान ले लेता है । इस घटना से घबराए अधिकारियों को समझ नहीं आता कि अब क्या जवाब दिया जाए । सवाल ये उठता है कि आखिर भैरव चेरी के सेल्टर में कैसे पहुंच गया ? क्या दोनों के सेल्टर कमजोर हो चुके थे जिसे भैरव ने तोड़ दिया ? और यदि कमजोर थे तो अधिकारी क्या कर रहे थे ?


कानन के अधिकारी बताते हैं कि कानन के सभी सीसीटीवी कैमरे बंद हैं और इसका कारण बंदर हैं । बंदरों ने सारे केबल तोड़ डाले जिसके कारण कैमरे बंद हैं और उन्हें इसकी जानकारी नहीं हुई । अब जिम्मेदार और मासूम अधिकारी केबल को अंडर ग्राउण्ड करेंगे और 24 घण्टे निगरानी रखेंगे । हद्द हो गई लापरवाही की ।


यदि कैमरे बंद थे तो क्या पहले अधिकारियों को नही मालूम था ? बंदर तो सालों से यहां है तो क्या सालों से सीसीटीवी कैमरे बंद हैं ? पहले अधिकारियों को ये आईडिया क्यों नहीं आया कि तार अंडर ग्राउण्ड कर दिया जाए ? और मान भी लें कि कैमरे बंद थे क्या वहां रात को रहने वाले अधिकारी कर्मचारियों के कान भी बंद थे जिन्हें इस घटना की आवाज नहीं आई ?

बहरहाल इतना समझ आया कि अधिकारियों ने बचाव के लिए इस बार बंदरों का आड़ ले लिया है लेकिन अच्छा हो अधिकारी अपनी जिम्मेदारी समझें और कानन को सुरक्षित और बेहतर बनाने के प्रयास करें ।

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button