close button
करगी रोडकोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

गांव गांव में कुकुरमुत्ते की तरह चल रहे बैंको के लोन ने लोगों का जीना किया मुहाल ।

पूरे पैसे जमा करने के बाद भी बैंक का दबाव की एक किश्त और जमा करें ।

दबंग न्यूज लाईव
बुधवार 03.11.2021

Krishna Kumar Pandey

पेण्ड्रा – गांव गांव में समूहों और लोगों को लोन देने वाले बैंकों का जाल सा बिछा हुआ है जो लोगों को और समूहों को आसानी से लोन दे देते हैं और फिर हर हफते , हर दिन या माह में उसकी वसूली करते हेैं । लोग भी अपनी जरूरतों के लिए ऐसे बैंकों से लोन ले लेते हैं क्योंकि बड़े बैंकों से कर्ज लेने में आने वाली दिक्कत इन लोन देने वाले बैंको के पास नहीं होती ।


लेकिन लोन लेने के बाद भारी भरकम ब्याज और बैंक कर्मचारियों के व्यवहार से लोन लेने वाले गांव के भोले भाले लोग परेशान हो जाते हैं । ऐसा ही एक मामला पेण्ड्रा के बसंतपुर से सामने आया है जहां की रहने वाली एक महिला शाम बाई ने आबीएल बैंक से तीस हजार रूपए 25 प्रतिशत पर 18 माह के लिए 26.11. 2019 को लोन लिया और हर माह 2020 रू. की किश्त जमा करने लगी । लोन की किश्त 4 जनवरी 2020 से चालू हुआ और 4 सितम्बर 2021 को पूरे 18 किश्त जमा करके पूरा लोन चुका दी । इस किश्त की राशि में बैंक ने अपना ब्याज भी जोड़ दिया था ।


लेकिन साम बाई अब इसलिए परेशान हो रही है कि 18 किश्त जमा करने के बाद भी अब बैंक के लोग एक और किश्त जमा करने के लिए साम बाई पर दबाव डाल रहे हैं । आज सुबह भी इस बैंंक का एक कर्मचारी सामबाई के घर आ गया और लोन की एक किश्त जमा करने के लिए कहने लगा ।

Sam Bai

सामबाई ने इस परेशानी को दबंग न्यूज लाईव के पास आकर अपनी परेशानी बताई और सारे दस्तावेज दिखाए जिसमें सामबाई द्वारा जमा की गई किश्तों के लेन देन का हिसाब था । जब उक्त बैंक के कर्मचारी से हमने पूछा तो उसका कहना था कि बैंक के नियम के हिसाब से ही लिया जा रहा है ।

ज्ञात हो कि पूर्व में भी गिरारी और आमाडांड में दो परिवार भी ऐसे बैंक लोन के चक्कर में बर्बाद हो चुके हैं । प्रशासन को इस गंभीर विषय पर संज्ञान लेना चाहिए और इस प्रकार के लोन देने वाले बैंको की मनमानी से क्षेत्र की भोली भाली जनता को राहत दिलाई जानी चाहिए ।

 

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button