close button
ब्रेकिंग न्यूज़
Home / करगी रोड / कोटा खाद्य विभाग में नियमों से परे काम , चहेतो पर अधिकारी महेरबान ।
.

कोटा खाद्य विभाग में नियमों से परे काम , चहेतो पर अधिकारी महेरबान ।

Advertisement

बिना विज्ञापन और कारण के रद्द किए जा रहे हैं उचित मूल्य के दुकान ।

दबंग न्यूज लाईव
सोमवार 25.07.2021

करगीरोड कोटा /बिलासपुर – कोटा में सालों से जमें खाद्य विभाग के अधिकारियों ने बिना विज्ञापन निकाले ही उचित मूल्य की दुकानों को खारिज करने का काम शुरू करते हुए अंदर ही अंदर अपने चहेतों को दुकान आबंटित करने का काम शुरू कर दिया है ।
कोटा में कई उचित मूल्य की दुकानों के लिए विज्ञापन निकाले गए थे जिसमें उसी पंचायत के समूहों से आवेदन मंगाए गए थे उसके बाद समूहों को दुकान आबंटित किया गया ।

लेकिन सबसे चोैंकाने वाली खबर जो निकलकर बाहर आ रही है वो ये है कि कई उचित मूल्य की दुकानों को बिना विज्ञापन निकाले ही रद्द किया जा रहा है और उस दुकान को अपने चहेतों के नाम पर आबंटित किया जा रहा है । कोटा खाद्य विभाग में बरसों से जमे एक अधिकारी कोटा के पूरे खादय विभाग को अपने घर की दुकान समझते हैं और जैसा मन चाहे वैसा काम कर रहे हैं ।


एक जानकारी के अनुसार कोटा के लगभग दस से पंद्रह उचित मूल्य की दुकानों के संचालन में फेरबदल किया गया है । इसके लिए एक साल पहले विज्ञापन भी निकाला गया था उसके बाद से ही प्रक्रिया शुरू हो गई थी । लेकिन अभी जो दुकानों का आबंटन किया जा रहा है उसमें कई खामियां सामने आ रही है । नियमानुसार जिस ग्राम पंचायत की दुकान है वहां उसी पंचायत के समूह को उसका संचालन दिया जाना है लेकिन यहां बाहर पंचायतों की महिला समूह को ये काम दिया जा रहा है ।


ग्राम पंचायत अमाली और कुंवारीमुड़ा में भी इसी प्रकार का मामला सामने आया है । अमाली में जो समूह पहले दुकान का संचालन करता था उसे हटाकर बाहर के किसी समूह को इसका काम दे दिया गया है । इसके खिलाफ ग्राम पंचायत ने एक शिकायत पत्र एसडीएम कोटा को सौंप कर अपने यहां के दुकान संचालन को ना बदलने की मांग की है । पंचायत ने अपने आवेदन कहा है कि दुकान संचालन या तो उसी समूह के पास रहने दिया जाए या फिर ग्राम पंचायत को संचालन के लिए दिया जाए किसी बाहरी समूह को जिसे इसका कोई अनुभव नहीं है उसे देने से आबंटन में दिक्कत आ सकी है ।


इससे भी चोैंकाने वाला कारनामा खाद्य विभाग ने कुंवारीमुडा पंचायत में किया है । यहां की उचित मूल्य की दुकान ग्राम पंचायत संचालित कर रही थी लेकिन रातों रात बिना विज्ञापन जारी किए और ग्राम पंचायत को सूचना दिए यहां की दुकान को बदल कर एकता महिला समूह को दे दिया गया है । एसडीएम कार्यालय से निकले एक आदेश के द्वारा यहां की दुकान पंचायत से अलग कर महिला समूह को दे दिया गया है ।इसी प्रकार कई और ग्राम पंचायत में भी उस पंचायत के समूहों को छोड़कर बाहर के समूहों को संचालन की जिम्मेदारी दी जा रही है ।

ग्राम पंचायत के सरपंच का कहना था कि – दुकान आबंटन के बारे में हमारे ग्राम पंचायत के नाम से कोई विज्ञापन जारी नहीं हुआ है । हमें तो अभी पता चला जब दुसरे समूह के नाम पर आदेश निकला जबकि पहले दुकान का संचालन ग्राम पंचायत ही करते आ रही थी ।

इस सबंध में कोटा के खाद्य निरिक्षक श्याम वस्त्रकार का कहना था – एक्ट में ऐसा कहीं नहीं लिखा है कि उसी पंचायत के समूह हों लेकिन व्यवहारिकता में उसी पंचायत के समूहों को प्राथमिकता देनी चाहिए । रही बात कुंवारीमुड़ा पंचायत की तो उसके लिए भी विज्ञापन जारी हुआ होगा तभी दुकान बदली गई है ।

कोटा में खाद्य विभाग और उसके अधिकारियों के काम काज के बारे में आने वाले समय और भी खुलासे आपके सामने आएंगे कि सालों से जमे अधिकारी कोटा में खादय आबंटन और उनके संचालन की कैसी व्यवस्था कर रहे हैं । और बिना किसी कारण के दुकानों की अदला बदली कर रहे हैं ।

Advertisement
Advertisement

About sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
x

Check Also

Kota Police – नशे के कारोबारियों की विरुद्ध कार्यवाही ।

Advertisement http://Kota Police – Action against drug dealers.करगीरोड कोटा शुक्रवार 24.09.2021 – ...

error: Content is protected !!