close button
करगी रोडकोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

दो साल बाद स्कूल तो खुला लेकिन बच्चों को नहीं मिला गणवेश , नया सत्र पुराना गणवेश ।

जिले के 1464 शासकीय पूर्व एवं माध्यमिक स्कूलों के 01 लाख 22 हजार 878 पंजीकृत छात्र-छात्राओं को लगभग 02 लाख 46 हजार गणवेश का वितरण किया जाना है ।

 

दबंग न्यूज लाईव
शनिवार 04.09.2021

कबीरधाम जिले को हाईटेक बनाने की कवायद में आज भी कबीरधाम जिला कतार के अंत मे खड़ा नजर आता है । पन्द्रह वर्षाे तक पूर्व मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह का गृह जिला होने के बावजूद इस नगर का न तो विकास हुआ न ही सुंदरता बढ़ी । सत्ता परिवर्तन के बाद कांग्रेस की सरकार आई तो सकरी नदी पर जरूर वर्षाे से लंबित उच्च स्तरीय पुल का निर्माण शुरू हुआ । लेकिन आज भी इस नगर में लोगों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया नही करवा पाना लचर प्रशासनिक व्यवस्थाओं की पोल खोलता है । अनेक समस्याओं से जूझते इस जिले की खास रिपोर्ट …

स्कूल शिक्षा विभाग नया सत्र पुराने गणवेश – कोरोना महामारी की वजह से बंद हुई शिक्षा व्यवस्था आज भी बदहाल है । शिक्षा सत्र आरम्भ हुए लगभग तीन महीने हो रहे हैं पर आज भी इस जिले के लगभग 97 हजार छात्र -छात्राओं को नए गणवेश का वितरण नही होने के कारण पुराने और फ़टे गणवेश पहन कर स्कूल आना मजबूरी बन गई है । स्कूलों के बन्द रहने के दरम्यान आन लाइन या मुहल्ला क्लास जरूर संचालित किया गया था इसी दरम्यान अगर विद्यार्थियों को गणवेश उपलब्ध करवा दिया जाता तो यह नौबत नही आती ।

कबीरधाम के चारों विकासखण्ड के सिर्फ कबीरधाम संकुल के 18 संकुलों में से सिर्फ 15 संकुलों में गणवेश का वितरण हो सका है । सबसे ज्यादा स्कूल और विद्यार्थी अकेले पंडरिया विकासखण्ड में पंजीकृत एवं अध्ययनरत हैं, जो ग्रामीण और वन्यक्षेत्रों में निवास करते हैं । प्राथमिकता के आधार पर इन्ही बच्चों की गणवेश उपलब्ध करवाना था लेकिन पंडरिया विकासखण्ड का दुर्भाग्य है कि इस विकासखण्ड के 468 शासकीय माध्यमिक एवं पूर्व विद्यालयों के 39 हजार 122 विद्यार्थियों में से किसी को गणवेश नही मिल पाया है ।

इस वर्ष जिले के 1464 शासकीय पूर्व एवं माध्यमिक स्कूलों के 01 लाख 22 हजार 878 पंजीकृत छात्र-छात्राओं को लगभग 02 लाख 46 हजार गणवेश का वितरण किया जाना है लेकिन अभी तक सिर्फ कबीरधाम के 15 संकुलों में मात्र पन्द्रह फीसदी गणवेश ही बांटे जा सके हैं । गणवेश के वितरण में हो रहे विलम्ब पर जिला शिक्षा विभाग का कहना है कि गणवेश की आपूर्ति हथकरघा विभाग रायपुर के द्वारा की जाती है । आपूर्ति को लेकर हथकरघा विभाग से कोई जानकारी नही होने के कारण गणवेश वितरण के सम्बंध में कोई जानकारी शिक्षा विभाग के पास उपलब्ध नही है ।

हालांकि दावा यह किया गया था कि 15 अगस्त तक विद्यार्थियों को घर घर जाकर गणवेश का वितरण किया जाएगा । गणवेश वितरण का एक पहलू यह भी है कि हथकरघा विभाग बच्चों की कक्षाओं और उम्र के हिसाब से औसत माप के गणवेश बनाता है जिसमे गणवेश पाने वाले विद्यार्थियों को छोटा या बड़ा गणवेश मिलता है जिसे मजबूरी में पहन कर स्कूल आना पड़ता है ।

अपने क्षेत्र की खबरों और विज्ञापन के लिये सम्पर्क करें
राजेश श्रीवास्तव ब्यूरो चीफ कबीरधाम
वाट्सएप करें 73897314 पर ..

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button