close button
करगी रोडकोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

प्रदेश में विद्यामितानों के सामने वर्तमान और भविष्य दोनों संकटमय ।

वर्तमान में आर्थिक मंदी तो भविष्य सुरक्षित नहीं होने का खतरा ।
पेण्ड्रा पहुंचे कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष से विद्यामितानों ने की मुलाकात और याद दिलाया घोषणापत्र ।

दबंग न्यूज लाईव
बुधवार 23.09.2020

 

संजीव शुक्ला ।

रायपुर प्रदेश में इन दिनों एनएचएम कर्मीयों से लेकर शिक्षक भर्ती और अब विद्यामितान के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे लोग प्रदेश की कांग्रेस सरकार को आए दिन उनका घोषणा पत्र याद दिलाने में लगे हैं । एनएचएम कर्मीयों के बाद अब प्रदेश के विद्यामितानों ने भी सरकार को उनके घोषणा पत्र की याद दिलाई है ।

घोषणा पत्र ।

भाजपा सरकार ने विद्यामितान के रूप में प्रदेश के योग्य पढ़े लिखे युवाओं को स्कूल में अतिथि शिक्षक के रूप नियुक्ति की । ये युवा प्रदेश के भविष्य को गढ़ने में लगे रहे लेकिन इस बीच इनका खुद का भविष्य अंधकारमय हो गया । भाजपा शासनकाल में जब विद्यामितान बनाम अतिथि शिक्षकों ने रायपुर में धरना प्रदर्शन किया तो उस समय विपक्ष में रहने वाली कांग्रेस के लगभग समस्त बड़े नेताओं ने इनके मंच पर आकर तत्कालीन सरकार को कोसा और भरोषा दिलाया कि उनकी सरकार के आते ही उन्हें नियमित कर दिया जाएगा ।

फाईल फोटो

लेकिन कांग्रेस की सरकार के आने के बाद भी विद्यामितानों की समस्या दूर नहीं हुई । समय समय पर विद्यामितानों ने सरकार के सामने अपनी मांगों को रखी और उनके वादे की याद दिलाई । कल ही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम और संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी गौरेला पेण्ड्रा के दौरे पर आए तो यहां के विद्यामितानों ने उनसे मुलाकात कर उनका वादा याद दिलाया ।इसके अलावा विद्यामितानों ने शिक्षा सचिव आलोक शुक्ला के सामने भी अपनी समस्या को रखा ।

फाईल फोटो

कल ही गौरेला से एक विद्यामितान ने दबंग न्यूज लाईव को अपने बैंक स्टेटमेंट की कापी भेजी जिसमें उनके एकाउंट में मात्र पांच सौ रूपए बचे थे । उनका कहना था कि पिछले पांच माह से उन्हें वेतन नहीं मिला है जिसके कारण उनकी आर्थिक दशा लगातार खराब होते जा रही है ।

अतिथि शिक्षकों का कहना है कि बच्चों के परिणाम में हम सुधार कर रहे हैं पर व्याख्याता के समान सभी योग्यता होते हुये भी हमारे परिवार का भविष्य अंधकारमय है, बहुत से शिक्षक ऐसे हैं जिनका सेवा के दौरान शासकीय नौकरी की आयु निकलती जा रही है इस संबंध में गौरेला,पैंड्रा,मरवाही में कार्यरत विद्या मितान (अतिथि शिक्षकों) ने मिलकर अपनी नौकरी की अनिश्चितता एवम गत 5 माह से वेतन नहीं मिलने की समस्या से अवगत कराया ।

देखना होगा प्रदेश के भविष्य के सुधारने का जिम्मा उठाने वाले विद्यामितानों के वर्तमान आर्थिक संकट को और भविष्य को सुरक्षित करने के लिए प्रदेश सरकार कब और कैसा निर्णय लेती है और कितना भरोषा इन्हें दिलाती है कि सरकार इनके साथ अन्याय ना करेगी ना होने देगी ।

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button