close button
करगी रोडकोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

छत्तीसगढ़ बने हो रहे बीस साल लेकिन राजधानी से चंद किमी दूर लोग रह रहे खानाबदोश जैसे ।

ना आवास ना शौचालय । ना सरपंच ने ध्यान दिया ना पूर्व विधायक ने ।

दबंग न्यूज लाईव
सोमवार 31.08.2020

सुनिल शुक्ला

रायपुर – छत्तीसगढ़ के निर्माण को बीस साल हो रहे हैं लेकिन अचरज की बात ये है कि राजधानी से चंद किमी दूर जहां मिनटों में पहुंचा जा सकता हैं वहां बीस साल से विकास नाम की चिज नहीं पहुंची । ना यहां शौचालय बने ,ना आवास । लगभग पंद्रह बीस साल से इस गांव मे रहने वालों के पास पट्टे तक नहीं है । हद तो ये हो गई कि यहां ना कभी विधायक पहुंचे और ना ही सरपंच । यहां के लोग अभी भी खानाबदोश जैसी जिंदगी जी रहे हैं ।


ये गांव है धरसींवा विकासखंड के ग्राम पंचायत सेरीखंडी का छेरीखेड़ी छप्पन तालाब । यहां की आबादी मुश्किल से दो सौ पचास के लगभग होगी जो लगभग सत्तर मकानों के बाशिंदे हैं । पिछले बीस सालों से इनके विधायक बदले , सरपंच बदले , अधिकारी बदले लेकिन इनकी किस्मत नहीं बदली ।


यहां के लोगों का कहना था पहले उनके विधायक देवजीभाई पटेल थे लेकिन वे एक बार भी यहां नहीं आए । वर्तमान में कांग्रेस से अनिता शर्मा विधायक जिन्होंने यहां पानी और बिजली की व्यवस्था की है । इसके बावजूद यहां के लोगों का जीवन नरक से कम नहीं है । पिछले दिनों हुई चार दिन की बारिश ने सरकारों के विकास के दावों की पोल खोल दी । यहां के लोगों की शिकायत है कि चुनाव के पहले सभी ने बड़े बड़े दावे किए लेकिन चुनाव के बाद कोई यहां झांकने तक नहीं आया ।


सबसे गंभीर बात ये है कि इस ग्राम पंचायत में पूर्व के सरपंचों ने इस वार्ड की तरफ कोई ध्यान ही नहीं दिया । यहां ना रोड है , ना बिजली की समुचित व्यवस्था ना ,ना पेयजल , ना शौचालय ना आवास आखिर पंचायत अपने फंड का उपयोग करती कहां है ।


यहां के कई लोगों ने बताया कि यहां लोगों के पास मतदाता परिचय पत्र और राशन कार्ड बस है उसके बाद किसी भी योजना का लाभ यहां के लोगों को नहीं मिल पाया है ।
राजधानी से लगे इस पंचायत का हाल ऐसा है जैसे सुदुर अंचल में बसा कोई गांव । यहां के जिम्मेदारों को सोचना होगा कि यहां भी इंसान ही रहते हैं , इनकी भी जरूरतें हैं और ये भी सरकार की हर योजनाओं का लाभ लेने के हकदार हेैं ।

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button