बुजुर्ग गौपालक परेशान ,तीन माह से गोबर का पैसा भी नहीं मिला ।

दबंग न्यूज लाईव
शनिवार 09.01.2020

 

Vikash Tiwari

करगीरोड कोटाछत्तीसगढ़ सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजना है गोधन न्याय योजना । प्रदेश के मुख्यमंत्री की स्वयं नजर इस पूरी योजना पर है और अधिकारी भी इस योजना में ढीलाई बरतने की हिम्मत नहीं करते और इस योजना के क्रियान्वयन के समय जो समस्या आती है उसे दूर करने के लिए तत्पर रहते हैं लेकिन जिन्हें गोबर खरीदने की जिम्मेदारी दी गई है उन्हें शायद मुख्यमंत्री की इस योजना की सफलता से लेना देना नहीं है यहां भी वे अपनी मनमानी करने से बाज नहीं आ रहे ।


कोटा में गोबर खरीदी केन्द्र में अब गोबर लेकर आने वाले गौपालक परेशान हो रहे हैं । यहां के कर्मचारी कभी गोबर गीला है , कभी सूखा है कहकर उन्हें परेशान कर रहे हैं । अपनी सायकल में बोरी में लादकर यहां गोबर लाने वाले से अब बाल्टी में गोबर लाने के लिए कहा जा रहा है । नगर के एक बुजुर्ग कल इस बात से इतने व्यथित हो गए कि मीडिया के पास आ गए और अपने साथ हो रहे अन्याय के बारे में बताने लगे ।


पीड़ित भागवत प्रसाद खरे का कहना था कि पिछले तीन चार दिनों से मेरे द्वारा ले जाए जा रहे गोबर को कभी गीला है तो कभी सूखा है कहकर रिजेक्ट कर दे रहे हैं । कल और परसों में मेरे द्वारा ले जाए गए गोबर में से बीस किलो गोबर की कटौती कर ली गई । मेैने जितना गोबर बेचा है उसका पैसा भी पिछले तीन माह से मुझे नहीं मिला है । इनसे कहो तो इनका कहना रहता है कि हमने भेज दिया है अब नहीं आया तो हम क्या करें ? कभी बोलते हैं यहां गोबर लेकर आओ फिर बोलते हेैं वहां लेकर जाओ ।


दबंग न्यूज लाईव ने पीड़ित की शिकायत पर गोबर खरीदी केन्द्र का भी दौरा किया लेकिन यहां के लोगों का रवैया वाकई में बुजुर्गो के साथ ठीक नहीं रहता । गोबर खरीदी का पैसा क्यांे नहीं आया पूछने पर एक कर्मचारी का कहना था कि सबका तो आ गया इनका क्यों नहीं आया क्या पता ।

खैर कोटा नगर पंचायत के जिम्मेदार अधिकारियों को इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आखिर गोबर खरीदी केन्द्र पर इतनी अव्यवस्था क्यों हेैं ? क्या गोबर खरीदी केन्द्र पर गोबर की क्वालिटी चेक करने का कोई पैरामीटर लगा है जो गोबर के गीले ओैर सुखे होने के स्तर की जांच करें ?

गोबर खरीदी केन्द्र में इस बात की जानकारी देता बोर्ड लगा देना चाहिए कि कितना गीला और सूखा गोबर नहीं खरीदा जाएगा ? और खरीदा जाएगा तो किस भाव में खरीदा जाएगा ।