close button
ब्रेकिंग न्यूज़
Home / कोरबा / निंदनिय – पत्रकार रितेश गुप्ता पर वन विभाग के कार्यालय में रेत माफिया का हमला । पुलिस ने भी किया गाली गलौच ।
.

निंदनिय – पत्रकार रितेश गुप्ता पर वन विभाग के कार्यालय में रेत माफिया का हमला । पुलिस ने भी किया गाली गलौच ।

Advertisement

शिकायत करने थाने गए पत्रकार को पुलिस ने भी धमका कर भगाया ।

दबंग न्यूज लाईव
सोमवार 06.12.2021

कृष्णा पांडेय

कोरबा /पसान – सभी चाहते हैं कि उनकी तकलीफ और समस्या के समय पत्रकार उनके साथ खड़े रहे लेकिन जब बात पत्रकार की होती है तो सभी के हाथ पैर बंध जाते हैं और मुंह में टेप चिपक जाता है । जो पत्रकार बिना स्वार्थ के हर समय लोगों की समस्या सुलझाने में लगा रहता है वहीं पत्रकार अपने उपर हो रहे अत्याचार के समय अकेला हो जाता है ।


ऐसा ही एक मामला पसान थाना क्षेत्र से सामने आ रहा है जहां वन विभाग एक अवैध रेत परिवहन करते हुए ट्रेक्टर को पकड़ती है और इसकी जानकारी देने और खबर लगाने के लिए क्षेत्र के पत्रकार रितेश को दी । पत्रकार जब खबर कव्हर करने वन विभाग के कार्यालय पहुंचा तो वहां पर रेत माफिया ने उस पर डंडे से हमला कर दिया । इसके बाद पीड़ित पत्रकार पसान थाने पहंुचा तो वहां भी पुलिस ने उससे गाली गलौच करते हुए भगा दिया ।


प्राप्त जानकारी के अनुसार पसान वन विभाग द्वारा आज रेत से भरे एक ट्रेक्टर को जब्त कर वन विभाग परिसर में ले जाकर खड़ा किया गया। जिसके कार्यवाही से संबंधित जानकारी देने के लिए पत्रकार रितेश को वन अधिकारियों द्वारा पसान परिक्षेत्र कार्यालय बुलाया गया। जहां जानकारी लेने जब उक्त पत्रकार रेंज कार्यालय पहुँचा तब ट्रेक्टर जब्ती से बौखलाए रेत माफिया यूसुफ खान द्वारा रितेश पर डंडे से जानलेवा हमला कर दिया गया। जिससे उसको गंभीर चोटें आई।

पत्रकार रितेश ने घटना की सूचना अपने भाइयों को दी, जिन्होंने मौके पे पहुँचकर जख्मी पत्रकार को सीधे पसान थाने लेकर पहुँचे, जहां उपस्थित थाना प्रभारी उप निरीक्षक प्रहलाद राठौर को घटनाक्रम से अवगत कराया गया, किंतु थाना प्रभारी राठौर पीड़ित पक्ष की आपबीती सुनने पश्चात एकाएक भड़क गए और जख्मी पत्रकार को जमकर अश्लील गाली- गलौच करते हुए धारा 384 में अंदर कर देने की बात कहते हुए उन्हें थाने से भगा दिया।

दूसरी ओर थाना प्रभारी द्वारा आरोपी पक्ष की ओर से पीड़ित पक्ष के खिलाफ सुनियोजित तरीके से कानूनी कार्यवाही किये जाने की बातें सामने आ रही है। हैरत की बात है कि पीड़ित को चमका- धमकाकर थाने से भगाने के बाद थाना प्रभारी द्वारा आरोपी को पक्षकार का दर्जा प्रदान किया जा रहा है। पसान पुलिस के इस पुलिस वाले गुंडे जैसी करतूत से वर्दी की छवि दागदार हो रही है जिस पर लगाम लगाने की महती आवश्यकता है।

Advertisement
Advertisement

About sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
x

Check Also

रेलवे की केन्द्रीय टीम पहुंची डोंगरगढ़ , लोगों ने सुनाई समस्या ।

Advertisement यात्री सुविधा समिति ने सुनी समस्या जल्द निराकरण का दिया आश्वासन ...

error: Content is protected !!