close button
पेंड्रा रोडकरगी रोडकोरबाबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

kawrdha – सामाजिक समरसता वाले शहर में अशांति का माहौल दंगे से भड़की धार्मिक वैमनस्यता

दुर्ग आई जी विवेकानंद सिन्हा सहित चार जिलों के एस पी फोर्स सहित मुस्तैद
जिले मे धारा144 लागू ,सभी स्कूल कालेजों की परीक्षाएं रद्द की गई
हिन्दू धार्मिक संगठनों में भारी आक्रोश , ग्राम ,मंडल ,ब्लाक और तहसीलों में हो रही बैठकें …

राजेश श्रीवास्तव ब्यूरोचीफ कबीरधाम
कैमरापर्सन लवकेश सिंह के साथ ..
कबीरधाम 05 अक्टूबर 2021

सात सन्दूकों में भरकर दफन कर दो नफरतें
आज इंसां को मोहब्बत की जरूरत है बहुत ………. (बशीर बद्र )

सदियों से आपसी प्रेम , भाईचारा और समरसता से भरे कबीरधाम kawrdha  जिले में कल उपद्रवी तत्वों ने नगर की शांति को भंग कर दिया । दंगे भड़क उठे , एक समुदाय के द्वारा दूसरे समुदाय पर हिंसा प्रतिहिंसा का खेल बड़े पैमाने पर हो गया ,अनेको घायल हुए । जब दंगे हो रहे थे तब जिले में पर्याप्त पुलिस बल उपलब्ध नही था ।


दंगों से माहौल इतना खराब हो गया कि दुर्ग रेंज के आई जी सहित चार पड़ोसी जिलों के एस पी को फोर्स सहित मोर्चा सम्हालना पड़ा । kawrdha जिला कलेक्टर ने तत्काल प्रभाव से धारा 144 लागू कर दिया है । आज जिले में होने वाले सभी स्कूल और कॉलेजों की ऑनलाइन और ऑफलाइन परीक्षाएं रद्द कर छुट्टी घोषित कर दी है । जिले की सभी शराब दुकाने सील कर दी गई है । प्रशासन चौकन्ना होकर लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए है ।


कबीरधाम kawrdha  के लोहारा नाका के पास अपने धर्म के झंडे को चौक में लगे हाईमास्ट लाइट के खम्बे पर बांधने तथा एक दूसरे के धार्मिक ध्वज को अपमानित करने की बातों से उपजे विवाद ने नगर के दो धार्मिक समुदायों में उन्माद भर दिया और देखते ही देखते दोनों पक्षों में मारपीट और खूनी जंग शुरू हो गया । दोनों समुदायों के बीच हुए इस मारपीट और खूनी दंगे में अनेको लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं ।


छत्तीसगढ़ शासन के वन पर्यावरण मंत्री तथा कवर्धा kawrdha के विधायक मोहम्मद अकबर ने अधिकारियों से दो टूक कहा कि दोषी चाहे किसी भी धर्म सम्प्रदाय जाति या कितना भी रसूखदार हों उन पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए । इस घटना के बाद हिन्दू संगठनों में बहुत आक्रोश है । जिले के सभी ब्लाक तहसील मंडल और कस्बों में सर्व हिन्दू संगठनों की बैठकें चल रही है ।

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button