फीस जमा नहीं करने वाले छात्रों को जनरल प्रमोट नहीं करने के साथ ही ना देंगे टीसी और ना ही अगली क्लास में बैठने देंगे ।

जब सालों साल कमाई की खुशी पालकों से नहीं बांटी तो अब एक साल की नुकसानी क्यों पालकों के सर मढ़ रहे ।

 

दबंग न्यूज लाईव
बुधवार 24.03.2021

 

रायपुर – प्रदेश के निजी स्कूलों की एक बैठक के बाद जो निर्णय हुआ है उसने सरकार के उस आदेश की धज्जी उड़ाने का काम किया है जिसमें सरकार ने दसवीं तथा बारहवीं के छात्रों को छोड़कर बाकी क्लास के बच्चों को जनरल प्रमोशन देने का आदेश दिया है । लेकिन राजधानी में हुई निजी स्कूलों के प्रबंधकों की बैठक के बाद प्रदेश में अब विवाद की स्थिति बन सकती है ।

निजी स्कूलों की बैठक में प्रबंधकों ने अपने एकतरफा लाभ को देखते हुए कई निर्णय ले लिए हैं जिसमें उन्होंने फीस जमा नहीं करने वाले छात्रों को जनरल प्रमोशन नहीं देने , आगे की कक्षाओं में बैठने की अनुमति नहीं देने और बिना फीस जमा किए टीसी नहीं देने जेैसे निर्णय लिए हैं । यदि टीसी नहीं होगी तो कोई भी निजी स्कूल आने वाले सत्र में बच्चों का एडमिशन नहीं लेगा ।


विदित हो कि करोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने स्कूलों को बंद करने के साथ ही सभी बच्चों को जनरल प्रमोशन देने की घोषणा की है । जबकि आज निजी स्कूलों के प्रदेश कार्यकारणी की बैठक में जो निर्णय लिए है उसके बाद प्रदेश के दो लाख बच्चों को ना तो जनरल प्रमोशन मिलेगा और ना ही फीस जमा नहीं करने के कारण ना टीसी दी जाएगी ओैर ना ही आगे की कक्षाओं में प्रवेश ।


प्रदेश सरकार की घोषणाओं को ये खुलेआम उल्लघंन होगा । निजी स्कूलों जब अपने नुकसान को देख रहें हैं तो उन्हें ये भी समझना होगा कि करोना संक्रमण के कारण सिर्फ उनके स्कूल ही नहीं प्रदेश के हर पालक पर इसका असर हुआ है । जब स्कूल सालों से अपनी कमाई की खुशी पालकों के साथ नहीं बांटते तो फिर एक साल के दुख को पालकों के सर क्यों मढ़ रहे हैं । जब पढ़ाई ही मुश्किल से एक माह भी नहीं हुई है तो फिर फीस पुरे साल की पालकों से क्यों वसुली जाए ?