close button
कोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

वेलकम डिस्टलरी ने स्थानीय मजदूरों को दिखाया बाहर का रास्ता ।

मजदूर पहुंचे अधिकारियों के दरवाजे कहा-ना वेतन सहीं मिलता है ना ही स्वास्थ्य सुविधा है और ना ही काम ।

 

दबंग न्यूज लाईव
सोमवार 06.09.2021

करगीरोड कोटा -कोटा स्थित वेलकम डिस्टलरी हमेशा विवादों में ही रहती है । कोटा के पर्यावरण को ध्वस्त कर चुकी ये फैक्ट्री अब यहां से वर्षों से कार्यरत स्थानीय कामगारों को भी बाहर का रास्ता दिखा रही है और उनकी जगह बाहर से मजदुर लाकर काम करवा रही है । काम से बाहर निकाले गए ये मजदुर पिछले एक डेढ माह से फैक्ट्री प्रबंधन के साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों से अपना दुखड़ा सुना रहे हैं लेकिन अभी तक इनकी समस्या का हल नहीं निकला है ।


आज यहां के कई मजदूर थाने पहुंच गए और प्रबंधन की शिकायत करने लगे । इसकी जानकारी जब फैक्ट्री प्रबंधन को लगी तो उसके अधिकारी भी थाने पहुंच गए कि कहीं कोई गड़बड़ ना हो जाए । बाद में कोटा थाने ने सामने बरामदे में सभा का आयोजन हो गया फिर धीरे धीरे मजदूरों ने प्रबंधन की पोल खोलनी शुरू कर दी ।


एक मजदूर ने तो ये भी कहा कि प्रबंधन के लोगों को कहना है कि उनकी पहुंच सीएम तक है और दस बारह विधायक उनके हाथ में है । ये सुनकर प्रबंधन के लोग हकला गए और कहने लगे हमने तो ऐसा नही कहा । इस बीच कोटा के कुछ नेता भी बीच बचाव और सुलह कराने पहुंच गए ।


काम से निकाले मजदूरों का आरोप था कि प्रबंधन के द्वारा सालों से कार्यरत मजदूरों को बाहर करके बाहर के मजदूरों से काम लिया जा रहा है । इसके अलावा ना तो प्रबंधन के द्वारा सहीं मजदूरी दी जाती है ना जॉब कार्ड बनाया गया है और ना ही वेतन पर्ची दी जाती है । स्वास्थ्य सुविधा की हालत तो ये है कि यदि फैक्ट्री में काम करते हुए किसी मजदूर का हाथ पैर कट जाए तो उसे बेंडेड तक नहीं मिलता और फिर हॉलमार्क के स्टीकर से ही काम चलाना पड़ता है ।

बहरहाल देखना होगा फैक्ट्री मजदूरों की समस्या का हल कैसे और कब निकलता है । क्योंकि सालो से यहां के मजदूर अपनी जायज मांगों के लिीए आवाज उठाते रहे हैं लेकिन उनकी समस्या का समाधान अभी तक नहीं हो पाया है ।

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button