बिटकुली हाई स्कूल में मौजा ही मौजा , जिम्मेदार शिक्षक आते नहीं जो आते हैं वो पढ़ाते नहीं ।

Dabang News Live

20-10-2021

बेलगहना -कोटा विकासखंड के बिटकुली हाई स्कूल में साफ सफाई के लिए सरकार ने स्वीपर नहीं दिया तो गुरूजी लोगों ने एक स्वीपर खुद रख लिया और स्वीपर को देने के लिए छात्रों से दो सौ दो सौ रूपए की अवैध वसुली कर ली । अच्छा होता कि यहां के छह स्टाफ मिलकर दो से तीन सौ रूपए महिने में चंदा कर लेते तो स्वीपर का भुगतान हो जाता । लेकिन गुरूजी लोग ये क्यों करने लगे उन्होंने छात्रों को पकड़ा और कर डाली अवैध वसुली ।


इसके अलावा कक्षा नवमी के छात्रों से नामांकन के नाम पर ₹60 वसूली की गई । बिटकुली हाई स्कूल में 6 शिक्षक कार्यरत हैं जिसमें से 3 शिक्षक ही मौके पर उपस्थित पाए गए छात्रों से पूछने पर पता चला की अभी तक मात्र 3 अध्याय ही पढ़ पाए हैं ।

जानकारी लेने पर स्कूल की प्रार्चा का कहना था – “यहां चपरासी की नियुक्ति नहीं है इसलिए स्कूल की साफ सफाई के लिए बच्चों से पैसा लिया गया है एवं इस पैसे से चपरासी को भुगतान किया जाता है ।”

स्कूल में यही एक लोचा नहीं है यहां तो शाला प्रबंध समित की बैठक रजिस्टर में हस्ताक्षर तो सभी के मिल जाएंगे लेकिन प्रस्ताव का कालम पुरा ब्लैंक ही रहता है । शिक्षकों की अनुपस्थिति के लिए बना बनाया बहाना यहां भी था कि वैसे तो हर दिन सभी आते हैं लेकिन आज आकस्मिक आवास पर हैं ।

’बिटकुली हाई स्कूल में छात्रों को पेयजल की सुविधा उपलब्ध नहीं’

बिटकुली हाई स्कूल में प्रचार द्वारा बताया गया कि यहां पर 1 बोर था जो कि खराब हो चुका है जिससे कारण यहां के बच्चों को पानी के लिए भटकना पड़ता है हम इसकी जानकारी ग्राम पंचायत एवं उच्च अधिकारियों को अवगत करा चुके हैं फिर भी इसकी समस्या का कोई निदान नहीं हो पा रहा है एवं जनप्रतिनिधि भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं ।