डब्लूएचओ का कहना भारत में इस वायरस के फैलने की गति धीमी ।

प्रदेश में करोना के 6 पाजिटिव्ह ।

सामुदायिक जागरूकता और सोशल डिसटेंस सिस्टम जरूरी ।

 

दबंग न्यूज लाईव
गुरूवार 26.03.2020

संजीव शुक्ला

बिलासपुर – प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या अब छह हो गई है । कल के पहले यानी मंगलवार तक जो आंकड़ा सिर्फ एक था उसमें पिछले चोैबीस घंटों में पांच का और ईजाफा हो गया है । ऐसे में ये संख्या छह पहुंच गई है । सरकार और प्रशासन अपनी तरफ से हर संभव प्रयास इसे रोकने के लिए कर रहा है । लेकिन समुदाय को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी जिससे सभी के प्रयास सफल हों ।


21 दिन के लाॅक डाउन के बाद जहां देश में सामुदायिक गतिविधियां कम हुई है और लोग एक दुसरे से दुरी रखने के साथ ही मेडिकल स्टाॅफ,पुलिस और सरकारें जिस तरह से कार्य में जुटी है मुमकिन हैं हम बहुत जल्द सब पर काबू पा लें लेकिन इसके लिए लोगों को भी जागरूक होने की जरूरत है ।


प्रदेश के कई जगहों से ऐसी खबरें आती है कि लोग अचानक सड़कों पर आ रहे हैं और कई दिनों की मेहनत एवं संयम पे पानी फेर दे रहे । इमने समय समय पर ऐसे लोगों की खबरों को आपतक पहुंचाया है । ये माना कि 21 दिन घर में ही रहना बहुत मुश्किल काम है लेकिन इन दिनों को आप अपनी पंसद से कुछ नया बना सकते हैं । लिखिए ,पढ़िए ,खेलिए ,एक्सरसाईज कीजिए ,नई नई चिजे बनाईए खाईए या मोबाईल पर बात कीजिए , टीव्ही देखिए , पुरानी कहानियां पढ़िए ,छत में घुमिए दिन निकल जाएगा और आप इस वायरस से भी बच जाएंगे ।


डब्लूएचओ की एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में कोविड 19 की घातक दर 2.1 प्रतिशत है यानि 2003 में फैले एसएआरएस की घातकता दर 10 प्रतिशत और 2010 में सामने आए एमईआरएस की घातक दर 35 प्रतिशत से बेहद कम ।


स्वास्थ्य विभाग ने 25 मार्च को जो प्रेस नोट रिलिज किया है उसके अनुसार विश्व में 372757 संक्रमित व्यक्ति हैं जिनमें से 16231 लोगों की मौत हुई है जबकि भारत में 25 मार्च तक 553 व्यक्ति संक्रमित थे तथा 10 लोगों की ही मृत्यु हुई थी । कल प्रेस नोट रिलिज के समय तक प्रदेश में 49 लोगों के सैंपल लिए गए थे जिसमें दो लोगों एक राजनांदगांव और एक रायपुर में पाजिटिव्ह पाया गया था । और ये दोनों ही विदेश से वापस आए थे । राजनांदगंाव वाला व्यक्ति थाईलैण्ड से तो रायपुर वाला यूके से ।
विशेषज्ञों का कहना है कि 80 प्रतिशत रोगियों मे ंहल्के लक्षण होते हैं और वे दो हफ्ते में ठिक हो जाते हैं । गंभीर लक्षण वाले मरीज तीन से छह हफ्ते में ठीक हो सकते लेकिन शर्त ये है कि वो पूरी गाईड लाईन को पालन करें ।


इस वायरस से बचने का सबसे आसान तरीका जो अब तक समझ आया है वो यही है कि आप सावधानी रखें । ज्यादा से ज्यादा घर में रहें , भीड़ भाड़ वाली जगहों से बचें और एक सामान्य दूरी बनाएं रखें । यदि किसी संक्रमित व्यक्ति से मिलते हैं तो पूरी सावधानी से मिलें । मास्क , ग्लब्स और सेनेटाईजर का उपयोग करें ।

घबराईए नहीं शांत रहें । आप तब तक सुरक्षित हैं जब तक आप किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में नहीं आते । यदि आप सर्दी ,खांसी ,बुखार जैसे लक्षण पाते हैं या किसी को ऐसे लक्षण हैं तो फिर तत्काल हेल्प लाईन नम्बर 104 या अस्पताल से संपर्क करें ।

प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री राहत कोष का नम्बर भी सार्वजनिक किया है । इसलिए इस संकट की घड़ी में जैसा भी हो जितना भी हो अपने सामथ्र्य से इसमें सहयोग करें । प्रदेश के संगठनों और जनप्रतिनिधियों ने रिलिफ फंड में सहयोग करना शुरू कर दिया है । ये समय किसी की आलोचना और बुराई निकालने का नहीं है । पूरा प्रदेश और देश हमारा ही है । आप सब स्वस्थ रहें भगवान से यही कामना है । हम ही हैं जो ये जंग जीत सकते हैं । सरकार , प्रशासन का सहयोग करें और घर पर ही रहें अति आवश्यक होने पर ही बाहर निकलें ।

About sanjeev shukla

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

क्या विधायक या जनप्रतिनिधि को है लाॅक डाउन का उल्लघंन करने का अधिकार ।

एफआईआर दर्ज होने पर क्यों भड़के विधायक शैलेष पाण्डेय । दबंग न्यूज लाईव सोमवार 30.03.2020 ...

error: Content is protected !!