कोरोना से जहां पूरा विश्व थर्राया सीवी रमन बच्चों से शुल्क वसूलने बुला रहा ।

पीआरओ का कहना जो छात्र पेटीएम ,कार्ड पेमेंट नहीं जानते वे आ रहे ।

सीवीरमन विश्वविद्यालय में सरकारी आदेशों की उड़ रही धज्जियां I

इकतिस तक सारे शिक्षण संस्थान बंद लेकिन सीवी रमन में छात्रों की भीड़ ।

 

दबंग न्यूज लाईव
गुरूवार 19.03.2020

बिलासपुर – प्रदेश सरकार के साथ ही केन्द्र सरकार ने भी कोरोना वायरस के डर को देखते हुए इकतिस मार्च तक प्रदेश के सारे शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया है । शैक्षणिक संस्थानों के साथ तो अब अन्य भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे माल , सिनेमा घरों यहां तक कि मंदिरों के पट भी बंद करने के आदेश आ रहे हैं । पूरा विश्व जब कोरोना के डर से सावधानी रखने की बात कह रहा हो ऐसे में भी बिलासपुर के कोटा में स्थिति प्रायवेट विश्वविद्यालय डा सी वी रमन हर दिन खुल रहा है । और यहां छात्रों की भीड़ देखी जा रही है । जानकारी के अनुसार कुछ क्लासे भी लग रही हैं ।


दबंग न्यूज लाईव ने जब इस बात की तस्दीक करने के लिए विश्वविद्यालय के पीआरओ से बात की तो उनका कहना था कि – वैसे विश्वविद्यालय तो बंद है लेकिन जो छात्र फिस जमा नहीं कर पाए हैं जो कार्ड,पेटीएम या नेट के बारे मे ंनहीं जानते वे छात्र फिस जमा करने आ रहे हैं । हमने सभी को कह दिया है कि संस्थान बंद है लेकिन कोई घुमने आ जाता है तो क्या करें ।

पीआरओ की बात बड़ी हास्यास्पद है कि कम्प्यूटर शिक्षा और आईटी में अपने नाम का दावा करने वाले सीवीरमन विश्व विद्यालय के छात्रों को नेट , नेट बैंकिग, एटीएम,पीटीएम की जानकारी ना हो या उन्हें इसमे ंकाम करना नहीं आता । यहां पढ़ने वाले बच्चे ग्रेजुएशन और पीजी के छात्र होते हैं ये किसी गांव देहात में रहने वाले अनपढ़ तो नहीं होंगे जिन्हें इनकी जानकारी ना हो । और यदि ये सहीं बात है कि विश्वविद्यालय के छात्रों को इनकी जानकारी नहीं है तो फिर ये गंभीर विषय है कि सीवीरमन बच्चों को पढ़ा क्या रहा है ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार विश्वविद्यालय प्रबंधन में फीस जमा करने की तिथि सत्रह तारीख थी जिसे बढ़ा कर पच्चीस तारीख कर दिया गया है । जबकि प्रबंधन को सरकारी आदेश मानते हुए फीस की तारीख भी इकतिस के बाद तक बढ़ा देनी थी । जानकारी ये भी मिली है कि विश्वविद्यालय के लगभग सभी स्टाफ आफिस पहुंच रहे ।

बहरहाल सीवी रमन प्रबंधन को ना तो सरकारी आदेश की चिंता है ना कोरोना वायरस की इसे मतलब है तो सिर्फ अपने फीस कलेक्शन की ।

About sanjeev shukla

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

क्या विधायक या जनप्रतिनिधि को है लाॅक डाउन का उल्लघंन करने का अधिकार ।

एफआईआर दर्ज होने पर क्यों भड़के विधायक शैलेष पाण्डेय । दबंग न्यूज लाईव सोमवार 30.03.2020 ...

error: Content is protected !!