ब्रेकिंग न्यूज़
Home / रायपुर / लघु उद्योग संघ ने मुख्यमंत्री से की मांग- ट्रायल के रूप में एक शिफ्ट में खोलकर उद्योगों को पहुंचाए राहत

लघु उद्योग संघ ने मुख्यमंत्री से की मांग- ट्रायल के रूप में एक शिफ्ट में खोलकर उद्योगों को पहुंचाए राहत

Advertisement

[ad_1]

भिलाई/रायपुर {गुणनिधि मिश्रा} । छत्तीसगढ़ लघु एवं सहायक उद्योग संघ के महासचिव केके झा ने 15 अप्रैल से लॉकडाउन खत्म न किए जाने एवं छोटे उद्योगों को खोले जाने की मांग की है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से उन्होंने अनुरोध किया है कि जिन उद्योगों में 25 से कम श्रमिक हैं उन्हें खोले जाने की अनुमति प्रदान की जाए। साथ ही सभी ऑफिस, दुकानें भी कम से कम एक शिफ्ट में खोला जाए।

उन्होंने कहा है कि प्रदेश में कोरोना वायरस पर पूरी तरह नियंत्रण है। ऐसी स्थिति में ट्रायल के रूप में एक शिफ्ट में उद्योग खोलकर उद्योग जगत को राहत पहुंचाई जा सकती है। झा ने कहा कि लॉकडाउन के बाद उद्योगों में तालाबंदी की स्थिति है। अब श्रमिकों को वेतन भुगतान करने का समय आ गया है। 

छत्तीसगढ़ की सीमा सील रखी जाए

झा ने कहा है कि जांबाज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने अपने साहसिक निर्णय एवं सूझबूझ से प्रदेश में कोरोना वायरस को पूरी तरह मात दे दी है। पूरे विश्व में आज छत्तीसगढ़ का डंका बज रहा है। ऐसी स्थिति में यहां के उद्योग क्यों बंद रहें। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पहले भी मंदी के दौर से प्रदेश को निकाल चुके हैं। इस समय भी वे अपने साहसिक निर्णयों से उद्योगों को मंदी की मार से बचा ही लेंगे। वे चाहते हैं कि छोटे उद्योग जिनमें कम से कम 25 श्रमिक हो उन्हें कम से कम एक शिफ्ट में खोला जाए। 

सभी ने दिया आश्वासन

उन्होंने बताया कि उन्होंने क्षेत्रीय विधायक देवेंद्र यादव एवं दुर्ग शहर के विधायक अरूण वोरा से बात की है तथा उन्हें उद्योग जगत को होने वाली परेशानियों से अवगत कराया है। जिस पर दोनों विधायकों ने आश्वस्त किया है।

Follow Us



Follow us on Facebook


Advertisement
Advertisement

About Prakash

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

दबंग एक्सक्लुसिव – चार सौ सतासी लाख की सड़क में अवैध मुरूम का कमाल , अधिकारियों को कुछ पता ही नहीं ।

Advertisement भुण्डा से गोबरीपाट में बन रही है प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना ...

error: Content is protected !!