पंचायत के फंड में लाखों रूपए का गबन ,लंबी जांच के बाद हुई कार्यवाही ।

दबंग न्यूज लाईव
गुरूवार 06.10.2022

करगीरोड कोटा – कोटा जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाले विवादित और भ्रष्टाचार में आकंठ डुबे एक पंचायत में अलग अलग समय में दो सचिवों ने पदभार संभाला और दोनों ने ही पंचायत के फंड में लाखों का गबन कर दिया । गबन के बाद शिकायत हुई और फिर कई चरणों की जांच हुई , इस जांच के बीच कई उतार चढ़ाव भी आए लेकिन अंततः जिला पंचायत सीईओ ने पुरे मामले में दोनों सचिवों को दोषी पाया और उन्हें निलंबितकर दिया ।


पूरा मामला कोटा जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत लिटिया का है । यहां अलग अलग समय में केशव यादव और पोलादास कुर्रे सचिव के रूप में पदस्थ थे । दोनों पर आरोप था कि इन्होंने पंचायत के फंड में भारी भ्रष्टाचार किया है । केशव यादव पर चार लाख से उपर और पोलादास के उपर तीन लाख पैंतिस हजार रूपए के गबन का आरोप लगा । आरोप के बाद केशव यादव को कुंवारी मुडा और पोलादास को छेरका बांधा का कार्यभार दे दिया गया था ।


लेकिन आज जिला पंचायत सीईओ जयश्री जैन ने दोनों सचिवों को दोषी पाते हुए निलंबित कर दिया है । इस निलंबन के दौरान दोनों सचिवों को जनपद पंचायत में उपस्थिति देनी होगी । जबकि इनकी जगह कुंवारीमुडा का कार्यभार कैलाश भट्ट को और छेरकाबांधा का कार्यभार कुलेश्वर राज को सौंपा गया है ।

सचिवों पर कार्यवाही के बाद अब लोगों की नजर सरपंच पर भी कार्यवाही को लेकर है । क्योंकि पंचायत में भ्रष्टाचार के मामले में अकेले सचिव ही दोषी नहीं है । पंचायत में कई लोग अब इस बात पर नजर रखे हुए है कि आखिर सरपंच पर कब और कैसी कार्यवाही होती है ।