close button
करगी रोडकोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

बेलगहना EXCLUSIVE – भूतपूर्व सरपंच को सरपंची का ऐसा जूनून कि ….

सरपंच पति ने संभाल ली अघोषित रूप से सरपंची ।
निर्माण सभा के सभापति दे सकते हैं आज अपने पद से इस्तीफा ।

दबंग न्यूज लाईव
शुक्रवार 21.01.2022

बेलगहना/कोटा – सरकार ने महिला सशक्तिकरण को मजबूत करने के लिए स्थानीय निकाय के चुनाव में महिलाओं को प्राथमिकता दी और उसी का नतीजा था कि बड़ी संख्या में महिलाओं ने पंचायतों में अपनी दावेदारी पेश की और वहां की कमान संभाली । लेकिन अधिकतर जगह महिला सरपंच के पति और उनके घर वाले ही पंचायत पर अपना अधिकार जमाए हुए है । ऐसा ही एक मामला है बेलगहना पंचायत का ।

नाली निर्माण का भूमिपूजन ।

बेलगहना ग्राम पंचायत के भूतपूर्व सरपंच तुलसी खुसरो आज से लगभग दस साल पहले यहां के सरपंच थे । इस पंचवर्षीय में उनकी पत्नि रमता बाई खुसरो को ग्राम पंचायत की कमान मिली । लेकिन पूर्व सरपंच को आज भी सरपंची का ऐसा जूनून सवार है कि पत्नि के सरपंची पद को अघोषित रूप से खुद ही संभाल रहे हैं और हद्द तो ये हो गई कि ये पंचायत में भी सरपंच की कुर्सी पर बैठ कर सारे काम निपटाते हैं और मीडिया के सवालों के जवाब देते हैं । सरपंच पति के ऐसे कई वीडियो और फोटो वायरल हैं जिसमें इन्हें पंचायत में सरपंच की कुर्सी पर जमे और बैठे देखा जा सकता है ।

फाईल फोटो ।

जबकि पंचायत राज अधिनियम में ये कहीं भी नहीं लिखा हुआ है कि महिला सरपंच की कुर्सी पर उनके पति महोदय कब्जा कर लें और पंचायत के काम काजों का संचालन करें ।

जानकारी ये भी है कि यहां होने वाले समस्त निर्माण कार्यो का भूमिपूजन भी वे स्वयं ही करते हैं जिसकी जानकारी पंचायत के निर्माण समिति को भी नहीं होती । हाल ही में ग्राम पंचायत के वार्ड नम्बर नौ में नाली निर्माण का भूमि पूजन भी इनके द्वारा किया गया है ।


पंचायत में हो सकता है घमासान – ग्राम पंचायत की निर्माण सभा के सभापति रवि रजक ने सरपंच पति के बढ़ते दखल और निर्माण समिति की अनदेखी से रूष्ट होकर अपने पद से इस्तीफा देने का मन बना लिया है । उनका कहना है कि बेलगहना सरपंच रमता बाई खुसरो के पति तुलसीराम खुसरो के द्वारा पंचायत के हर कार्यों में मनमानी किया जाता है मासिक बैठक में पहुंचकर कुर्सी लगाकर सरपंची की जाती है और पंचों के साथ दुर्व्यवहार भी किया जाता है शासन द्वारा कोई भी निर्माण कार्य ग्राम पंचायत में आता है तो यह स्वयं सरपंच बन कार्य को बिना पंचों की सहमति से स्वयं करा लिया जाता है I

वार्ड नंबर 9 में नाली निर्माण होना है जिसका भी लेआउट भी नहीं हुआ था यह कुछ लोगों के साथ मिलकर ठेकेदारी करना चाह रहे हैं और इस कार्य को प्रारंभ कर चुके हैं जब इसका विरोध निर्माण समिति के सभापति के द्वारा किया गया सरपंच पति के द्वारा यह कहा गया कि तुमको जहां शिकायत करनी है कर लो मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता बढ़ने से रोका जा रहा है अब देखना यह है कि उच्च अधिकारी इस बात पर कैसे संज्ञान लेते हैं ।

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button