close button
शिक्षाकोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

Higher Education – ये उच्च शिक्षा विभाग है या निकम्मों की टोली ।

जो रिटायर हो चुके हैं उनका दो जगह ट्रांसफर , जबकि कई का दो दो जगह कर दिया स्थानान्तरण ।

कई के बदल दिए विषय ।

 

दबंग न्यूज लाईव
मंगलवार 11.10.2022

रायपुर – सरकार ने स्थानान्तरण क्या खोला विभागों की चांदी हो गई और फिर हर विभाग में स्थानान्तरण के नाम पर जमकर मलाई बंटने का दौर शुरू हो गया । कई अपनी मनपसंद जगह जाने के लिए पैसे देने लगे तो कई अपना स्थानान्तरण रूकवाने के लिए । ऐसे में प्रदेश का विवादित उच्च शिक्षा विभााग कैसे पिछे रहता ।  उच्च शिक्षा विभाग ने जैसे ही आठ अक्टूबर को अपनी अधिकृत वेबसाईट पर स्थानान्तरण लिस्ट चिपकाया वैसे ही प्रदेश भर में बवाल हो गया और आनन फानन में उच्च शिक्षा विभाग ने लिस्ट को अपनी वेबसाईट से हटा दिया लेकिन तब तक लिस्ट तो कई लोग डाउनलोड कर चुके थे ।


उच्च शिक्षा विभाग में कैसे योग्य लोग भरे पड़े है ये लिस्ट देख कर समझ आ जाता है क्योंकि ऐसे गलती तो किसी विभाग का प्यून भी नहीं करेगा जितनी इन्होंने कर दी । विभाग ने स्थानान्तरण लिस्ट जारी की आठ अक्टूबर को जबकि लिस्ट में तारीख है तीस सितम्बर याने स्थानान्तरण हुए व्यक्ति के सामने सबसे बड़ी समस्या की वो कौन सी तारीख को सहीं माने क्योंकि लिस्ट जारी होने से पंद्रह दिनों के अंदर नई जगह पर ज्वाईन करना होता है ।


हद तो ये हो गई कि सस्ते नशे में चूर अधिकारियों ने जून में रिटायर हो चुके डा.गौरीशंकर साव का स्थानान्तरण बिलासपुर से एक नहीं दो जगह कर दिया । सूची में एक बार उन्हें बिलासपुर से दल्ली राजहरा और दूसरी बार बिलासपुर से रतनपुर स्थानान्तरित कर दिया । अब साव साहब परेशान कि कौन सी जगह ज्वाईन किया जाए । ये अपने आप में अकेला मामला नहीं है इस सूची में कई प्राध्यापक है जिन्हें एक नहीं दो दो जगह स्थानान्तरित कर दिया गया है ऐसे सभी लोग परेशान कि कहां जाकर ज्वाईन करें या दोनों जगह ही कर लिया जाए ।


स्ूची में बिलासपुर से डा डी मिश्रा को पामगढ़ और वाड्रफनगर , डा.व्ही के नायडू को कोरबा से पहले धर्मजयगढ़ फिर कोरबा से करतला , जितेन्द्र शर्मा को सरगांव से पहले मुंगेली फिर सरगांव से पेण्ड्रा , प्राची सिंह को बिल्हा से दो बार नगरदा , शशी कुमार को दो बार पत्थलगांव से राजनांदगांव स्थानान्तरित कर दिया गया और पत्थल गांव में उनकी जगह दो सहायक प्राध्यापक डा सोनल मिश्र और त्रिलोक कुमार को पत्थलगांव भेज दिया गया ये दोनो वनस्पति शास्त्र के प्रोफेसर हैं और मजे की बात पत्थलगांव में वनस्पति शास्त्र में एक ही पद स्वीकृत है । हद्द है भाई अभी और कारनामें देखिए ।

 


मलखरौदा से पूनम कोरी को भी घरघोड़ा और मुंगेली , अग्रसेन महाविद्यालय में तो विभाग ने सहायक प्राध्यापकों की झड़ी लगा दी यहां समाजशास्त्र के दो पद है इसके लिए विभाग ने छह सहायक प्राध्यापक यहां भेज दिए और ये सभी स्वयं के व्यय से यहां जाना चाहते थे । विभाग ने भी कहा जाओ भाई जाओ जहां जाना है जाओ , जो करना है करो हम तो नशे में है ।


इसी प्रकार अशोक श्रीवास को कटघोरा से मिनीमाता कोरबा भेज दिया गया जबकि वहां पहले से ही भौतिक शास्त्र के प्राध्यापक नियुक्त है अब अशोक साहब वहां क्या करेंगे । इसी प्रकार मिनीमाता महाविद्यालय में राजनीति के दो पद स्वीकृत है जहां एक पद पर नियुक्ति है और एक पद खाली है लिकिन विभाग ने यहां एक पद के विरूद्ध दो सहायक प्राध्यापक भेज दिए याने अब यहां राजनीति के तीन प्राध्यापक हो गए ।


इसी प्रकार सुत्रिता शर्मा का स्थानान्तरण दुर्ग से राजनांदगांव कर दिया गया जबकि वे आठ माह बाद रिटायर हो जाएंगी और नियम है कि एक साल से कम समय यदि रिटायरमेंट के लिए है तो उन्हें प्रशासनिक दृष्टि से स्थानान्तरण नहीं किया जाता ।

सबसे मजे की एक और बात विभाग में नशे में टुन्न अधिकारियों ने एक सहायक प्राध्यापक का विषय ही बदल दिया भैसमा से बगीचा भेजे गए कौशिक रसायन शास्त्र के प्राध्याक है लेकिन उन्हें राजनीति शास्त्र पढ़ाने बगीचा भेज दिया । अब कौशिक साहब भी परेशान होंगे जो मैं जानता नहीं कैसे पढ़ाउंगा । इसी प्रकार डा अर्चना दिवान जो कि समाज शास्त्र की प्राध्यापक है उन्हें पाली से बरपाली हिन्दी पढ़ाने भेज दिया गया ।

मतलब विभाग को ये भी नहीं मालूम की उनके कौन से प्राध्यापक कौन से विषय के है ? कोैन से प्रोफेसर रिटायर हो चुके हैं ? किस महाविद्यालय में कितने पद है ? कितने खाली है ? ऐसे कई सवाल इस स्थानान्तरण सूची जारी होने के बाद उठ रहे हैं । हमारे एक सूत्र ने तो बताया कि लिस्ट भी अधिकारियों ने नहीं किसी पुस्तक प्रकाशक से बनवा दी गई अब पुस्तक छापने वाले ने धड़ाघड़ आएं बाएं स्थानान्तरण कर दिया और किरकिरी बन गई उच्च शिक्षा विभाग की । अच्छा हुआ विभाग ने उच्च शिक्षा से किसी को प्राथमिक शाला या आंगनबाड़ी नहीं भेज दिया ।

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button