close button
शिक्षाकरगी रोडकोरबापेंड्रा रोडबिलासपुरभारतमरवाहीरायपुर

डा सी वी रामन विश्वविद्यालय की मुश्किलें कम होने वाली नहीं । एक के बाद एक मुश्किलें सामने ।

हाईकोर्ट ने कहा चार हफते में जवाद दें या याचिकाकर्ता को भरे हरजाना ।

दबंग न्यूज लाईव
गुरूवार 19.08.2021

बिलासपुर/कोटा डा सी वी रामन विश्व विद्यालय की मुश्किलें खतम होते दिखाई नहीं दे रही हैं । विश्वविद्यालय पर कई गंभीर आरोप लगने के बाद अब फिर से फर्जी मार्कशीट का जिन्न सामने आ गया है । इस बार हाईकोर्ट ने सख्ती के साथ विश्वविद्यालय को चार हफ्ते में इस मामले में अपना जवाब प्रस्तुत करने के लिए कहा है ।

सी वी रमन यूनिवर्सिटीज के क्रिया कलाप को लेकर दाखिल जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए कार्य वाहक मुख्य न्यायाधीश माननीय श्री प्रशांत मिश्रा एवं न्यायाधीश माननीय श्री एन के चन्द्रवंशी की खंड पीठ ने 4 सप्ताह मे सभी उत्तरवादीयो को जवाब पेश करने हेतु निर्देशित किया है।

वही उक्त प्रकरण मे बार बार उत्तरवादीयो द्वारा समय लेकर जवाब न प्रस्तुत करने पर हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता की ओर से आपत्ति को स्वीकार करते हुए निर्देशित किया की 4 सप्ताह मे जवाब प्रस्तूत न करने पर सभी उत्तरवादी याचिकाकर्ता को एक एक लाख रुपए हरजाना देंगे।


याचिकाकर्ता आरती सिंह की ओर से अधिवक्ता रोहित शर्मा ने मामले मे पैरवी की। कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई 20 सितम्बर से प्रारंभ होने वाले सप्ताह मे रखी गई है।

सीवीरमन पर पहले भी कई बार फर्जी अंक सूची बनाने के आरोप लगते रहे हैं तथा कई लोगों ने इसके खिलाफ धरना और प्रदर्शन भी किया था लेकिन लंबी पहुंच के चलते विश्वविद्यालय पूरे मामले में बचते रहा है लेकिन इस बार हाईकोर्ट के रूख को देखते हुए लगता है कि विश्वविद्यालय के मुश्किलें खड़ी होने वाली है ।


यदि सी वी रमन इस मामले में तय समय सीमा में जवाब नहीं देता है तो उसे हर्जाना भरना पड़ेगा और ऐसे में समझा जाएगा कि विश्वविद्यालय पर लग रहे आरोप सहीं ही हैं यदि विश्वविद्यालय हर्जाना नही भर कर जवाब देने की तैयारी करता है तो देखना होगा कि विश्वविद्यालय क्या जवाब देता है जिससे हाईकोर्ट ओैर याचिकाकर्ता संतुष्ट हो पाते हैं ।

sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
Back to top button