close button
ब्रेकिंग न्यूज़
Home / करगी रोड / कोटा जनपद की सामान्य सभा में हुआ हंगामा , जनपद सदस्यों ने कैश बुक और बिल ब्हाउचर्स देखने की बात कही ।
.

कोटा जनपद की सामान्य सभा में हुआ हंगामा , जनपद सदस्यों ने कैश बुक और बिल ब्हाउचर्स देखने की बात कही ।

Advertisement

बैठक में उपस्थित आठ में से पांच सदस्यों ने किया वाक आउट ।
कहा-जनपद में हो रहा है भारी भ्रष्टाचार ।

दबंग न्यूज लाईव
सोमवार18.01.2021

 

करगीरोड कोटा – कोटा जनपद पंचायत में आज सामान्य सभा की बैठक आयाजित की गई थी बैठक का एजेंडा क्या था इस बात पर चर्चा होती उसके पहले ही बैठक में मौजूद सदस्यों और अधिकारियों में विवाद शुरू हो गया । वैसे भी पिछले कुछ माह से जनपद पंचायत कोटा में सबकुछ सामान्य नहीं है ।

पिपरतराई और तेंदुवा पंचायत में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर जनपद सदस्य आर पार की लड़ाई का मुड बना चुके हैं । पिपरतराई पंचायत क्षेत्र की जनपद सदस्य अश्विन टोडर ने पिपरतराई पंचायत के सचिव दुर्जन साहू के काम काज को लेकर शिकायत की थी कि दुर्जन साहू ने पिपरतराई पंचायत में एलईडी लाईट लगाने के नाम पर लाखों रूपए का भ्रष्टाचार किया है । बाद में बात सही भी निकली कि दो हजार के एलईडी लाईट को इस पंचायत ने नौ हजार मे खरीदा है । लेकिन अधिकारियों ने इस बात पर ध्यान नहीं दिया ।

बाद में तेदुवा पंचायत क्षेत्र की जनपद सदस्य ने भी अपने यहां के सचिव पर कई गंभीर आरोप लगाए थे और इन पर कार्यवाही करने को लेकर भूख हड़ताल पर चले गए थे । बाद में उनका भूख हड़ताल तो खतम हुआ लेकिन इस सब के बीच जनपद सदस्यों और जनपद सीईओ के बीच खटास उत्पन्न हो गई ।

आज कोटा जनपद में सामान्य सभा की बैठक रखी गई थी जिसमें आठ जनपद सदस्य मौजूद थे । बैठक की कार्यवाही शुरू होते ही कुछ जनपद सदस्यों ने कोटा जनपद के कैश बुक और बिल ब्हाउचर्स देखने की मांग कर दी फिर क्या था माहोैल गरम तो होना ही था । जनपद की सामान्य सभा में पहला प्रस्ताव ही बिना अनुमोदन के ढेर हो गया उसके बाद दुसरे प्रस्ताव पर चर्चा होना था लेकिन यहीं से बहस बढ़ गया और पुरी बैठक बिना किसी नतीजे के खतम हो गई । अंदरूनी सूत्रों से जो जानकारी प्राप्त हुई उसके अनुसार जनपद सदस्यों ने जैसे ही बिल ब्हाउचर्स और कैश बुक देखने की बात कही बड़े बाबू के हाथ पैर फूल गए काफी देर ना नुकुर के बाद बैठक में कैश बुक लाया गया और इसके बाद हंगामा और बढ़ गया ।

जनपद की सभापति अश्विन टोडर का कहना था कि हमने हमेशा जनपद का सहयोग किया है लेकिन जनपद से उन्हें सहयोग नहीं मिल पाता जब भी किसी बात की जानकारी लो या पूछो तो मैडम चिढ़ जाती है और उनका व्यवहार ठीक नहीं रहता ।

बहरहाल कोटा जनपद में विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है , यदि जनपद और पंचायतों में कुछ अच्छा करना हो तो सभी जिम्मेदारों को आपसी वैमन्स्यता और ईगो छोड़कर मुद्दे पर बात करनी होगी और जनपद के विकास कार्यो को पहले पायदान पर रखना होगा ।

Advertisement
Advertisement

About sanjeev shukla

Sanjeev Shukla DABANG NEWS LIVE Editor in chief 7000322152
x

Check Also

प्रदेश में स्कूल संचालन को लेकर हर दिन नए आदेश । अब छठवीं से ग्यारहवीं तक नहीं लगेगी कक्षाएं ।

Advertisement फिर पहली से पांचवीं की कक्षाओं का संचालन क्यों ? करोना ...

error: Content is protected !!